Planets Name in Hindi and English (ग्रहों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में)

ग्रहों के नाम! प्लैनेट्स नेम इन हिंदी! क्या आप भी जानना चाहते हैं कि हमारे सौरमंडल में कितने ग्रह है और वह कौन-कौन से हैं। हमने यहां पर सारे ग्रहों के नाम की सूची तैयार की है और हमने हर एक ग्रहों से जुड़ी हुई सारी जानकारी प्रदान की है।

What is the Solar System? सौरमंडल क्या होता होता है?

Solar System को ही हम हिंदी भाषा में सौरमंडल कहते है। यह सौरमंडल शब्द ग्रहों के विज्ञानं और उनके चल-चक्र को कहते है। 

साधारण शब्दों में कहें तो हमारे सौरमंडल में जो सूर्य है, उसकी परिक्रमा (चक्कर) करने वाले जितने भी उपस्थित ग्रह है, शूद्र ग्रह है, तारे, धूमकेतु, या उल्कापिंड है इन सभी के सहयोग से (मौजूदगी) को हम सौरमंडल कहते है। 

सूर्य हमारे सौरमंडल का क्या है?

सूर्य कोई ग्रह नहीं है, वह सौरमंडल का सबसे बड़ा और विशालकाय तारा है। सूर्य में एक प्रचंड गुरुत्वाकर्षण बल-शक्ति है जिसके मदद से सूर्य और अन्य खगोलीय पिंड है, वे सब बंधे है। खगोलीय पिंड मतलब एक खगोलीय वास्तु जो अंतरिक्ष में पाए जाते है जिन्हे किसी मनुष्य ने नहीं बनाया, वह स्वयं निर्मित पिंड है जो अपने खुद के बने धुर्वे में घूमते है और सूर्य इर्द-गिर्द परिक्रमा करते है।

जब यह खगोलीय पिंड सूर्य की परिक्रमा करते है तब ये सब किसी से न टकराये इस लिए ये सब अपने स्वयं के गुरुत्वाकर्षण द्वारा बनाये ध्रुवे में घूमते है जिससे की इनके आस-पास के क्षेत्र साफ़ रहते है और वो अन्य किसी पिंडो से नहीं टकराते।

हमारे सौरमंडल में छोटे बड़े अनेक खगोलीय पिंड परिक्रमा कर रहे होंगे जिनमे से वैज्ञानिकों द्वारा तथा Astrology अध्ययन के माध्यम से जिन ग्रहों के बारे में पता चला है।

इन सभी के बारे में हम निचे विस्तार से पढ़ेंगे जिससे हमें इन ग्रहों के और सौरमंडल के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त होगी जैसे की इन सभी ग्रहों की सूर्य से दुरी, तापमान, क्षेत्रफल, द्रव्यमान इत्यादि। 

हमारे सौरमंडल में कितने ग्रह हैं?

हमारे सौरमंडल में कुल 8 ग्रह है बुध, शुक्र, पृथ्वी, मंगल, बृहस्पति, शनि, अरुण, और वरुण।

Planets Name In Hindi-English (ग्रहों के नाम हिंदी और इंग्लिश में): Graho Ke Naam

  1. Mercury (बुध)
  2. Venus (शुक्र)
  3. Earth (पृथ्वी)
  4. Mars (मंगल)
  5. Jupiter (बृहस्पति)
  6. Saturn (शनि)
  7. Uranus (अरुण)
  8. Neptune (वरुण)

1. Mercury (बुध)

  • Mercury Planet (बुध ग्रह) सूर्य के सबसे निकट रहने वाला और आकर में सौरमंडल का सबसे छोटा ग्रह है। 
  • इस ग्रह पर वायु का आभाव होने के कारन जीवन असंभव है। 
  • पृथ्वी से यह ग्रह सुबह और शाम को दिखाई पड़ता है (दूरबीन से), क्योंकि दिन के समय सूर्य के तेज़ प्रकाश के वजह से इस ग्रह को देख पाना संभव नहीं है।
  • इस ग्रह पर दिन में अत्यधिक गर्मी (तापमान 427°C) तथा रात्रि के समय में अत्यधिक ठण्ड (तापमान – 173°C) होती है।
  • आकर में यह पृथ्वी के 18 वें भाग के बराबर है। इस ग्रह का कोई उपग्रह (satellite) नहीं है।
  • सूर्य से बुध ग्रह की दुरी 57.91 million Kms है जिस कारण इस ग्रह को सूर्य की एक परिक्रमा को पूर्ण करने के लिए अनुमानित 88 दिन लगता है। 
  • पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण के मुकाबले इस ग्रह का बल 3/8 भाग का है और इस ग्रह का कोई उपग्रह नहीं है।
  • बुध ग्रह पर भरी मात्रा में लोहा पाया जाता है क्योंकि वहा की सतह चटानी है। 
  • इस ग्रह के पथरीले सतह पर भारी मात्रा में sulphur और chlorine जैसे तत्व पाया जाता है जिसके कारण इस ग्रह का रंग गहरे भूरे रंग का दिखाई पड़ता है।

2. Venus (शुक्र)

  • शुक्र ग्रह सौरमंडल में सूर्य से दूसरे निकटतम स्थान पर है और यह सभी ग्रहों में पृथ्वी से नज़दीक वाला ग्रह है। 
  • इस ग्रह को पृथ्वी ग्रह की बहन (Sister of Planet Earth) भी कहा जाता है क्योंकि इन दोनों ग्रहों में बहुत से समानताएं है जैसे फीचर्स, भार, आकर, आदि। 
  • यह ग्रह शाम का तारा और सुबह का तारा के नाम से बहुत प्रसिद्द है क्योंकि यह बहुत ही ज़्यादा चमकीला है। चंद्र के बाद रात में सर्वाधिक चमकने वाला दूसरा सबसे ज्यादा चमकदार पिंड है। 
  • शुक्र ग्रह सौरमंडल में सर्वाधिक गर्म ग्रह माना जाता है (hottest planet)। लोग Mercury बुध ग्रह को सबसे गर्म मान लेते है क्योंकि वह सूर्य के समीप है। 
  • इस ग्रह पर रात का तथा दिन का तापमान लगभग एक समान होता है जो की 462°C है।
  • शुक्र ग्रह पर वायु मंडल है जिसमे 90-95% कार्बन डाइऑक्साइड गैस पाया गया है। इस ग्रह के चारो तरफ sulphuric acid के जमे हुए बादल हैं। 
  • इस ग्रह का भी कोई उपग्रह (satellite) नहीं है। 
  • इस ग्रह को सूर्य की एक पूरी परिक्रमा करने में लगभग 225 दिन लगते है। 
  • यह अन्य ग्रहों के घूमने की दिशा से विपरीत दिशा में घूमता है- पूर्व से पश्चिम दिशा में। 
  • सूर्य से शुक्र ग्रह की दुरी अनुमानित 108.2 million Kms है।

3. Earth (पृथ्वी)

  • सौरमंडल में पृथ्वी एकमात्र ऐसा ग्रह है जहाँ पर जीवन है। पृथ्वी वासी इस ग्रह को धरती भी कहते हैं। 
  • सूर्य से दुरी के माध्यम से ग्रहों में पृथ्वी तीसरे स्थान पर आता है जिसे हम सौरमंडल का नीला ग्रह भी कहते है क्योंकि इस ग्रह की सतह ज्यादातर पानी से भरा है। 
  • प्राकृतिक रूप से इस ग्रह का चंद्रमा (moon) नाम का एक उपग्रह है।
  • पृथ्वी ग्रह की बनावट (structure) जोईड (geoid) है। अन्य ग्रहों की तरह पृथ्वी भी सूर्य की परिक्रमा अपने खुद के ध्रुवे में घूमकर करता है। 
  • इसे अपनी में खुद का एक चक्कर (rotation) लगाने में 24 घंटे लगते है। जबकि इसे सूर्य की एक परिक्रमा (revolution) करने में 365 दिन (1 year) का समय लगता है। 
  • पृथ्वी की अक्ष ध्रुवीय व्यास (axis polar diameter) 12713.6 Kms  है तथा भूमध्यरेखीय व्यास (equatorial diameter) 12756 Kms  है।
  • सूर्य से पृथ्वी की औसतम दूरी 148.76 million Kms है और चंद्रमा इस ग्रह से 3,84,400 Kms दूर है।
  • सूर्य की किरणों को पृथ्वी पर पहुंचने में 8 मिनट 18 सेकंड का समय लगता है। 
  • पृथ्वी के सतह का 71% भाग जलस्थलिय (hydrosphere) है और 29% भाग भूस्थलीय (lithosphere) है जहाँ मनुष्य, पशु, पक्षी, एवं अन्य भूजीव रहते है तथा जलप्राणी जल में रहते है।
  • पृथ्वी के भ्रमण के कारण दिन और रात होते हैं तथा सूर्य का भ्रमण करने के कारण ऋतु परिवर्तन होता है। 
  • पृथ्वी जिस ध्रुवे (orbit) में सूर्य की परिक्रमा करती है वह आकर में दीर्घ (elliptical) है जिसके कारण सूर्य और पृथ्वी के बीच की दुरी में परिवर्तन होते रहता है। जिसमे न्यूनतम दुरी को उपसौर (Perihelion) तथा अधिकतम दुरी को सूर्योच्च (Aphelion) कहते है। 
  • 21 जून को दिन की अवधि अधिक होती है जिसे Summer solstice तथा 22 दिसंबर को दिन की अवधि सबसे काम होती है जिसे Winter solstice कहते है। 
  • 21 मार्च और 23 सितम्बर को सूर्य की किरणें सामान रूप से पृथ्वी पर पड़ती है जिसके कारण इन दो दिनों के दिन-रात का समय सामान होता है जो की 12-12 घंटे की होती है। 

4 . Mars (मंगल)

  • मंगल ग्रह सौरमंडल में ग्रहों की सूर्य से दुरी के अनुसार चौथे स्थान पर आता है।
  • इस ग्रह के खुद के नैसर्गिक दो उपग्रह है जिनका नाम- फ़ोबोस और डीमोस (Phobos and Deimos) है। डीमोस (Deimos) उपग्रह सौरमंडल का सबसे छोटा उपग्रह है।
  • मंगल ग्रह में निक्स ओलम्पिया (Nix Olympia) नाम का एक ग्रह है जिसकी ऊंचाई पृथ्वी के माउंट एवेरेस्ट (Mt. Everest) से भी तीन गुना ज्यादा है।
  • इस ग्रह पर एक विशालकाय ज्वालामुखी है जिसका नाम ओलम्पस मोंस (Olympus Mons) है। 
  • मंगल ग्रह को लाल ग्रह (Red Planet) भी कहते हैं क्योंकि इसका धरातल जंग लगे लोहे के सामान दिखता है। इस ग्रह का वायुमंडल अत्यत वायरल है।
  • इस ग्रह का सतह सूखा और धूल भरा है, जिसके कारण इस ग्रह पर धुल भरा तूफ़ान चलता है और कई बार तो यह इतना विशाल होता है जो महीनो तक चलता है।
  • सूर्य से इस ग्रह की औसतम दुरी दूरी 242.91 million kms है। 
  • पृथ्वी के धुरी के सामान मंगल ग्रह की धुरी झुकी होने कारण यहाँ पर ऋतु परिवर्तन होते है। 
  • मंगल ग्रह सौरमंडल का दूसरा सबसे छोटा रहा है।
  • मंगल ग्रह को रात के समय में मनुष्य अपनी साधारन आँखों से भी देख सकते हैं। 

5. Jupiter (बृहस्पति)

  • Jupiter ग्रह सौरमंडल के ग्रहों में सबसे बड़ा ग्रह है। इस ग्रह को हिंदी में ‘बृहस्पति’ कहते है। 
  • सूर्य से दुरी के मामले में यह ग्रह सौरमंडल में पांचवें स्थान पर आता है। जिसकी सूर्य से दुरी लगभग 749.57 million kms है।
  • इस ग्रह की घनत्व (density) पृथ्वी के घनत्व के मुकाबले एक चौथाई है।
  • इसे सूर्य की एक परिक्रमा करने में पृथ्वी के समय के अनुसार अनुमानित 11.9 वर्ष लगाता है।
  • इस ग्रह का द्रव्यमान (mass) सौरमंडल में सबसे अधिक है जो सभी ग्रहों का 71% है तथा आयतन (volume) सभी का डेढ़ गुना है। 
  • तारों के भाँती यह ग्रह भी सूर्य की किरणों से ऊर्जा प्राप्त कर दोगुनी-तिगुनी ऊर्जा प्रकाशित (emitting) करता है। इस ग्रह की अपनी खुद की radio energy है। इसलिए इस ग्रह में तारों के गुण भी है। 
  • इस ग्रह के वायुमंडल में hydrogen तथा helium गैस मौजूद होते है। इस ग्रह का वायुमंडलीय दाब (Atmospheric pressure) सूर्य की तुलना में 1 करोड़ गुना अधिक है। 
  • इस ग्रह के अपने 79 नामांकित उपग्रह (satellites) हैं जिसमे गेनीमेड (Ganymede) सौरमंडल में सबसे बड़ा उपग्रह है। 
  • Jupiter ग्रह का व्यास (diameter) 1,39,820 Kms है जो तुलना में पृथ्वी के व्यास से 11 गुना अधिक है। 

6. Saturn (शनि)

  • Saturn ग्रह को हिंदी में शनि ग्रह कहते है जो सौरमंडल में सूर्य की दुरी के अनुसार छठे स्थान पर आता है और आकार में सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह है। 
  • सूर्य से शनि ग्रह की दुरी 1.434 billion Kms है।
  • शनि ग्रह का व्यास (diameter) 1,16,480 Kms है।
  • इस ग्रह को सूर्य की एक परिक्रमा लगाने में अनुमानित 29.5 वर्ष का समय लगता है।
  • सौरमंडल में इस ग्रह को गैसों का गोला अथवा गैलेक्सी (Galaxy) भी कहते है क्योंकि इस ग्रह के मध्य में एक चक्र सामान 7 विक्सित वलय हैं जो गुरुत्वाकर्षण के कारण इस ग्रह की परिक्रमा करते हैं। 
  • इस ग्रह की सतह पृथ्वी या अन्य ग्रहों सामान ठोस नहीं है बल्कि गैसों की है जिसमे यह 94% Hydrogen, 6% Helium और कुछ अंस Methane और Ammonia भी है।
  • शनि ग्रह सौरमंडल में आँखों से दिखने वाला आंखरी ग्रह है।
  • शनि ग्रह के लगभग 82 उपग्रह हैं जिनमे से 62 उपग्रहों का नामांकन हुआ है और अन्य की खोज-बिन अभी भी जारी है।
  • टाइटन (Titan) उपग्रह शनि ग्रह का सबसे बड़ा और सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा उपग्रह है। इस उपग्रह के वायुमंडल में नाइट्रोजन (Nitrogen) मौजूद है।

7. Uranus (अरुण)

  • सौरमंडल में अरुण ग्रह (Uranus) सूर्य से दुरी में सातवें स्थान पे आता है जो सूर्य से 2.871 billion Kms दुरी पर है। 
  • शनि ग्रह के वलयों के सामान इस ग्रह का भी वलय है जिसकी संख्या 5 है। जिनके नाम है- अल्फ़ा (Alpha), बीटा (Beta), गामा (Gaama), डेल्टा (Delta), और एप्सिलोन (Epsilon)। 
  • सूर्य से इस ग्रह की दुरी 2.9513 billion kms है और यह ग्रह सूर्य की एक परिक्रमा पूरी करने में 84 वर्षों का समय लेता है और इस ग्रह के 15 उपग्रह है। 
  • अरुण ग्रह का व्यास (diameter) 50,724 kms है।
  • इस ग्रह के वायुमंडल में Hydrogen, Helium, Methane, और Ammonia जैसे गैस होते है।
  • इस ग्रह के सभी उपग्रह पृथ्वी के विपरीत दिशा में परिभ्रमण करते हैं।
  • इस ग्रह का ऊपरी वातावरन (Upper Atmosphere) काफी ठंडा होता है। 
  • यह ग्रह दिखने में नीला दिखाई पड़ता है क्योंकि इस ग्रह पर Methane गैस ज्यादा मात्रा में मौजूद है।
  • अरुण ग्रह का द्रव्यमान (mass) पृथ्वी के द्रव्यमान का 14.5 % है।

8. Neptune (वरुण)

  • Neptune ग्रह को हिंदी में वरुण ग्रह कहते है। यह ग्रह सौरमंडल में सूर्य से दुरी में आठवें स्थान पर आता है। 
  • वरुण ग्रह की सूर्य से दुरी 4.495 billion Kms है। 
  • इसका द्रब्यमान (mass) पृथ्वी के द्रव्यमान का 17 % है।
  • इस ग्रह का वायुमंडल  80% Hydrogen और 19% Helium का है तथा इसमें कुछ मात्रा में पानी और मीथेन भी होता है। 
  • वरुण ग्रह के 13 उपग्रह भी है जिनमे ट्रिटॉन (Triton) और प्रोटियस (Proteus) मुख्य है। 
  • सौरमंडल में वरुण ग्रह तीसरा ग्रह है जहाँ पर जीवित ज्वालामुखी (Active Volcano) पाया गया है।

इसे भी पढ़े: