पेड़ों के महत्त्व पर निबंध | Essay on Importance of Trees in Hindi

मित्रो आज के इस लेख में हम सीखेंगे पेड़ों के महत्त्व पर निबंध कैसे लिखते हैं। यहाँ पर हमने Essay on Importance of Trees in Hindi के ऊपर निबंध आपके लिए बनाई है। जिसकी सहायता से आप पेड़ों के महत्त्व पर निबंध आसानी से सिख सकते है।

पेड़ों के महत्त्व पर निबंध

हम जिस युग में रह रहे हैं उसमें हमें लोगों को पेड़ों के महत्वा के बारे में बताने की अत्याधिक आवश्यकता पड़ने वाली हैं। जिसे जानकार लोग पेड़ों पर हो रहे आधुनिकता के नाम पर अत्याचार को करना काम कर सके और अपने जीवन को सुरक्षित कर सकें। पेड़ पृथ्वीवासिओं के लिए प्रकृति द्वारा दी गयी महत्वपूर्ण अंगों में से एक हैं। पेड़ प्रकृति की ऐसी देन है जो हमारे वातावरण को स्वच्छ, साफ और प्रदूषण-मुक्त रखने में बहुत सहायता करता है। पर्यावरण को स्वच्छ बनाए रखने में इनका बहुत बड़ा योगदान है। पेड़ों के अस्तित्व से धरती हरी-भरी खुशहाली और सुंदर लगती है। पेड़ों से हमें अपार वस्तुओं की प्राप्ति होती है, जैसे फल-फूल, लकड़ीयाँ, पत्ते, छाया और महत्वपूर्ण औषधियों के रूप में भी पेड़ हमारे लिए अत्यंत गुणकारी हैं। पेड़ों से हमें प्राणवायु ऑक्सीजन की प्राप्ति होती है। यह हमारे जीवन के लिए अत्यधिक आवश्यक है। यह बड़ी विडंबना की बात है कि हम मनुष्य अपने स्वार्थ के लिए प्रकृति के इतने अनमोल देन- पेड़ों के महत्व को ना समझते हुए इन्हें अंधाधुंध काटते चले जा रहे हैं। 

भगवान एवं प्रकृति की देन में से पेड़ सर्वश्रेष्ठ स्थान पर आते हैं। जो मनुष्य के एवं समस्त प्राणियों के लिए अत्यंत ही गुणकारी एवं लाभदायक है। पेड़ों की सहायता से हमारे वातावरण में प्रदूषण की मात्रा कम होती है एवं पर्यावरण भी स्वच्छ और हरा-भरा लगता है। पेड़ों की एक  सियत है कि यह वातावरण से जहरीली गैसों को कम कर प्राणवायु ऑक्सीजन का निर्माण कर वातावरण में फैलाती है। जिसके कारण मनुष्य को श्वास लेने में बड़ी सहायता मिलती है। यदि धरती पर पेड़ों के अस्तित्व को हम इसी प्रकार कम करते जाएंगे तो आने वाले कुछ सालों में हमें पर्यावरण के दुष्प्रभाव से कोई नहीं बचा पाएगा। पेड़ों की संख्या कम होने के कारण वातावरण में प्रदुषण फ़ैल रहे हैं जैसे वायु प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण, जल प्रदूषण एवं अन्य प्रकार के कई समस्याओंका सामना हमें करना पड़ सकता है। जो आगे चलकर मनुष्य के जीवन में गंभीर बीमारियाँ भी पैदा करने वाली हैं। 

पेड़ों के अस्तित्व से धरती पर बारिश होती है। बारिश हमारे पर्यावरण के लिए अत्यंत ही आवश्यक होती है। जिससे पृथ्वी के धरातल संख्या में वृद्धि होती है और जमीन के जलस्तर में बढ़ोतरी होती है। बारिश के कारण सभी पेड़-पौधे अत्यंत ही खिले-खिले, और हरे-भरे एवं स्वच्छ नजर आते हैं। पूरा वातावरण हरियाली से खिलखिला उठता है। बारिश के कारण नदियाँ, तालाब, कुएं और अन्य जल-स्त्रोत मैं पानी भर जाता है। किसान भी बारिश के आने की ख़ुशी में अपनी खेती शुरू करते हैं और फसलों की बुआई करना शुरू कर देते हैं। यदि पेड़ ही नहीं होंगे तो पृथ्वी पर ना तो बारिश होगी और ना ही वातावरण में इन चीजों के बदलाव हमें कभी देखने को मिलेंगे। 

पेड़ों के कारण धरती के वातावरण का संतुलन बने रहता है। जिससे प्रदूषण की मात्रा काफी हद तक कम होती है। इसके कारण धरती की सुरक्षा परत ओजोन लेयर संतुलित रहता है। यह ओजोन लेयर सूर्य से निकलने वाली अल्ट्रावॉयलेट किरणों को धरती पर आने से रोकती है और हमें उसके दुष्परिणाम से भी बचाती है। पेड़ों के होने से वन के प्राणियों को सुरक्षा मिलती है। जहाँ वे अपना जीवन बड़े आनंद से बिताते हैं। पेड़ों की जड़ों के कारण पृथ्वी की मिट्टी सख्त होती हैं और भूकंप की संभावना भी कम हो जाती है। पेड़ों के अस्तित्व के कारण ही वातावरण में शीतलता फैलती है। स्वच्छ हवाएं हमें महसूस करने के लिए मिलती हैं और ग्लोबल वार्मिंग भी कम होते हैं।  जिसके कारण पृथ्वी की सतह ठंडी रहती है। जब कोई शहरवासी गांव में जाता है, तब उसे वहाँ का वातावरण अत्यंत सुहाना और मनमोहक लगता है। यह पेड़ों की हरियाली एवं उसकी छाया एवं शीतल हवाओं के कारण ही होता है। जो किसी के भी मन को मोह लेता है और वातावरण में एक नई खुशियाली का उगम करता है।

इतनी खूबियों के बावजूद हम मनुष्य अपनी क्रूरता से बाज नहीं आते और अपने निजी स्वार्थ के कारण धरती पर पेड़ों के अस्तित्व को धीरे-धीरे खत्म करते चला जा रहे है। आधुनिकता के नाम पर हम अपने जीवन की रेखा को ही मिटाते चला जा रहे है। इस बात को हमें समझना होगा और पेड़ों के संरक्षण के लिए हमें बहुत से कार्य करने होंगे और पेड़ों की कटाई को भी हमें रोकना होगा। हमें पेड़ों को भारी संख्या में लगाना होगा जिससे कि पुनः पेड़ों के अस्तित्व में वृद्धि होगी और वातावरण में जो प्राणघातक वायु है, प्रदूषक तत्व है, उनमें कमी होगी। अतः हम इंसानों को इन सभी बातों का ध्यान रखना होगा और पेड़ों की सुरक्षा के प्रति हमें जागरूक होना होगा और लोगों को भी इसके प्रति जागृत करना होगा। पेड़ लगाओ पेड़ बचाओ-  केवल कहने से काम नहीं चलेगा। हमें इसपर कार्य भी करना होगा, तभी हम अपने इस पवन धरती को बचा सकेंगे।

उम्मीद करते है की, हमारा यह लेख पेड़ों के महत्त्व पर निबंध आपको जरूर पसंद आया होगा। आप अपने मित्रो को साथ यह लेख साझा कर सकते है। ताकि वह भी जान पाए पेड़ों के महत्त्व पर निबंध कैसे लिखा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *